चुड़ैल ने कमरा गिराने का काम रोका, तांत्रिक ने पूजा करके पूरा करवाया!

पुराने भवन को गिराने में लगे मजदूरों को अचानक ऐसी चीज दिखी कि उनके पैरों तले जमीन खिसक गई और सभी मजदूर चुड़ैल से डरकर भाग गए। दरअसल यह मामला कुछ दिन पहले हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर जिले के नादौन में सामने आया था।

नादौन में पुराने तहसील भवन के एक कमरे को गिराने के लिए कुछ मजदूर आये. जैसे ही वे कमरे को गिराने लगे, कमरे से अजीब सी आवाजें आने लगी जिससे कि मजदूरों के होश उड़ गए। आवाजों के अलावा इन्हें एक चुड़ैल रुपी औरत भी दिखाई देने लगी जो बार बार एक ही बात दोहरा रही थी, कि काम रोक दो-काम रोक दो।

इस अचानक आई मुसीबत से डरे मजदूरों ने काम बंद कर दिया। यहां काम करने वाले मजदूरों अनिल, सुमित, संजार ने बताया कि भवन के एक कमरे को उखाड़ते वक्त एक चुड़ैल रुपी औरत बार-बार दिखाई देने लगी। यही नहीं, शाम सात बजे एक मजदूर अनिल कुमार काम करते वक्त वहां गिर पड़ा और उसके हाथ पर रहस्यमयी चोट भी लगी। इसे 17 टांके लगवाने पड़े।

मजदूरों का कहना है कि रात को सपने में भी एक महिला एक बच्चे के साथ दिखाई देती है और कहती है कि इस भवन के चार कमरों में से एक कमरे को न गिराया जाए। अगर इसे गिराया गया तो जान-माल का नुकसान होगा। रात के समय जब उस कमरे की तरफ जाते हैं तो ऐसा महसूस होता है कि कोई वहां पर है। मजदूरों ने बताया कि तीन कमरों में ऐसी कोई हरकत नहीं है। घबराए मजदूरों ने काम बंद कर दिया और ठेकेदार को इसकी सूचना दी। बाद में ठेकेदार ने एक तांत्रिक मोहम्मद इब्राहिम को यहां बुलाया जिसने यहां पूजा-पाठ किया।

नादौन में चुड़ैल ने काम रोका
तांत्रिक के पूजा पाठ करने के बाद ही काम शुरू हो सका

तांत्रिक मोहम्मद इब्राहिम का कहना था कि यहां पर कई साल पहले एक महिला और पुरुष की मौत हुई थी। जिनके कारण यहां पर कार्यरत मजदूर प्रेत-आत्माओं से भयभीत हो रहे थे। तांत्रिक की पूजा पूरी होने के बाद मजदूर काम के लिए मौके पर पहुंचे और कार्य शुरू किया।

वहीं, ठेकेदार विजय धवन का कहना था कि वह अब तक दो सौ से ज्यादा पुराने भवन गिरा चुका है, लेकिन ऐसी घटना उनके जीवन में पहली बार हुई है। हालांकि, मजदूरों की बातों में कितनी सच्चाई है, इस पर अभी भी संशय बरकरार है। फिलहाल भवन गिराने का काम पूरा कर लिया गया है।

Comments

LEAVE A REPLY