जानिए, महानतम मुक्केबाज के बारे में खास बातें जो आप जानना चाहते है!

777

खेल इतिहास के सबसे बड़े हेवीवेट मुक्केबाज और दुनिया के महानतम खिलाडियों में शामिल मोहम्मद अली का 74 साल की उम्र में निधन हो गया. 17 जनवरी 1942 कोलुईसविले केन्टकी, संयुक्त राज्य में जन्मे कैसियस मार्सेलस क्ले, जूनियर ने 3 जून, 2016 को फीनिक्स, एरिज़ोना, अमेरिका के एक अस्पताल में अंतिम सांस ली. वे 32 सालों से पार्किंसन नामक बीमारी से जूझ रहे थे.

muhammad-ali-simply-the-great-1942-to-2016
Muhammad Ali Simply the Great 1942 to 2016

व्यक्तिगत जीवन

मोहम्मद अली ने चार शादियां की और इनके नौ बच्चे हैं। इनकी एक बेटी लैला अली पेशेवर महिला मुक्केबाज हैं। इन्होंने 1964 में सोंजी रोई से पहली शादी की। दो वर्ष बाद 1966 में ये दोनों अलग हो गए। अगस्त 1967 में इन्होंने बेलिंडा बॉयड से दूसरी शादी की। उन्हें तीन लड़कियां और एक लड़का हुआ। 1976 में ये दोनों भी अलग हो गए। अली ने वेरोनिका पोर्श से 1977 में तीसरी शादी की। इनकी चार लड़कियां हुई। इनकी शादी 1986 में टूट गई। 1986 में योलांडा विलियम्स से इन्होंने चौथी शादी की। इन्होंने एक बेटा भी गोद लिया।

खेल जीवन

मोहम्मद अली ने 1964, 1974 और 1978 में विश्व चैंपियनशिप का ख़िताब जीता । अली ने 1979 में पहली बार संन्यास की घोषणा की, लेकिन 1980 में उन्होंने रिंग में वापसी की लेकिन नए विश्व चैंपियन लैरी होम्स से हार गए। मुकाबले को 11वें राउंड में रोका दिया गया। अली 1981 में बॉक्सिंग से वास्तविक रूप में रिटायरमेंट ले लिया। इनके खाते में 56 जीत (37 नॉकआउट 19 घोषित) और 5 हार शामिल हैं। उनके नाम 1960 रोम ओलंपिक में जीता लाइट हैवीवेट गोल्ड मेडल भी शामिल है।

mohammad-ali-fight-knocking-down-opponent
Mohammad Ali (Cassius Marcellus Clay, Jr.) knocked down his opponent during a fight

विवाद और चर्चा में

  • नस्लीय भेदभाव से दुखी होकर इन्होंने 26 फरवरी 1965 को इन्होंने अपना नाम मोहम्मद अली रख लिया तथा खुद को अश्वेत मुस्लिम घोषित कर दिया।
  • एक केवल श्वेतों के लिए से निकले जाने के अपमान से त्रस्त होकर इन्होंने 1960 ओलंपिक्स का अपना लाइट हैवीवेट का गोल्ड-मैडल ओहियो नदी में फेंक दिया था, हालांकि कुछ स्रोत इसे अफवाह मानते हैं।
  • अपने मुस्लिम धर्म की बात रखते हुए वियतनाम में अमेरिकी कार्यवाई से नाराज होकर इन्होंने अमेरिकी सेना से जुड़ने के प्रस्ताव को ठुकरा दिया। सेना से जुड़ने से मना करने के कारण न्यूयॉर्क स्टेट एथलेटिक कमीशन ने इन्हें बॉक्सिंग के लाइसेंस से वंचित कर दिया।
  • ह्यूस्टन की जूरी ने उन्हें धोखाधड़ी के आरोप में 5 वर्ष की जेल और 10 हजार डॉलर की सजा सुनाई। उनका पासपोर्ट भी जब्त किया गया। वैसे अपील करने के बाद यह सजा 10 दिन की हो

मोहम्मद अली के बारे में कुछ और ख़ास बातें

  • मोहम्मद अली ने 12 साल की उम्र में बॉक्सिंग ट्रेनिंग शुरू की थी। उन्होंने बॉक्सिंग सीखना केवल इसलिए शुरू किया क्योंकि वे उनकी साईकिल को चुराने वाले चोर की धुनाई करना चाहते थे।
  • केवल 22 साल की उम्र में 1964 में सोनी लिस्टन को हराकर उलटफेर करते हुए वर्ल्ड हैवीवेट चैंपियनशिप जीत ली थी. वैसे उन्होंने पेशेवर मुक्केबाजी अपना पहला गोल्ड-मैडल 18 साल की उम्र में जीता था।
  • वर्ल्ड हैवीवेट चैंपियनशिप जीतने के कुछ ही समय बाद उन्होंने डेट्रॉएट में वालेस डी फ्रैड मुहम्मद द्वारा शुरू किया गया ‘नेशन ऑफ इस्लाम‘ ज्वाइन कर अपना नाम बदल लिया था. इस्लाम ग्रहण करने के पीछे नस्लीय भेदभाव से उपजी नाराजगी थी।
  • अपनी मशहूर जीत के तीन साल बाद उन्होंने यूएस मिलिट्री ज्वाइन करने से इनकार कर दिया.  इसमें उन्होंने अमेरिका के वियतनाम युद्ध में भाग लेने के चलते अपनी धार्मिक मान्यताओं के आहत होने का हवाला दिया.
  • सेना को मना करने के चलते अली को गिरफ्तार कर उनका हैवीवेट टाइटल छीन लिया गया. कानूनी पचड़ों के चलते अली अगले चार साल तक फाइट नहीं कर पाए।
  • 1971 में अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट ने उनकी सजा पलट दी. अली के युद्ध के लिए ईमानदारी से मना करने के फैसले ने उन्हें ऐसे लोगों का नायक बना दिया जो युद्ध के खिलाफ थे।
  • कैसियस क्ले के नाम से मशहूर इस बॉक्सर ने 1975 में सुन्नी इस्लाम कबूल कर लिया. इसके तीस साल बाद उन्होंने सूफिज्म को अपना लिया लिया।
  • मशहूर पहलवान जॉर्ज वैग्नर से प्रभावित अली प्रेस कॉनफ्रेंस और इंटरव्यू के लिए किसी मैनेजर के भरोसे ना होकर इन्हें खुद ही हैंडल करते थे।
  • 6 फीट 3 इंच लंबे अली ने अपने करियर में 61 फाइटें लड़ी और 56 जीतीं इनमें से 37 का फैसला नॉकआउट में हुआ. उन्हें अपने करियर में सिर्फ पांच बार हार का सामना करना पड़ा।
  • अली के कई उपनाम(nickname) मशहूर हैं में से सबसे मशहूर ‘सिम्पली द ग्रेटेस्ट‘, ‘द पीपल्स चैंपियन‘ और ‘द लुइसविले लिप‘ थे. लुइसविले उनके जन्म-स्थान के कस्बे का नाम है।
president-bush-presents-the-presidential-medal-of-freedom-to-muhammad-ali-in-2005
President Bush presents the presidential medal of freedom to Muhammad Ali in 2005

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? भारत मैट्रीमोनी डॉट कॉम में निःशुल्क रजिस्टर करें!

Comments

LEAVE A REPLY