अमेरिका की डेथ वैली में अपने आप खिसकते पत्थरों का क्या है राज़???

दुनिया में कुछ चीजें ऐसी हैं जिनका अभी तक रहस्य ही बना हुआ है. एक ऐसी ही रहस्यमयी जगह डेथ वैली है जो कि पूर्वी कैलिफोर्निया में एक रेगिस्तान में स्थित हैं. डेथ वैली उत्तरी अमेरिका की सबसे गर्म, सूखी और विचित्र जगह है. कैलिफोर्निया के डेथवैली की संरचना और तापमान हमेशा से ही सबको चौंकाने वाला रहा है. लेकिन इस जगह की सबसे विचित्र बात यह है कि यहाँ पत्थर अपने आप एक जगह से दूसरी जगह चले जाते हैं. जिन्हें सेलिंग स्टोन्स के नाम से भी जाना जाता है. इस क्षेत्र में कम से कम 320 किलो तक के पत्थरों को अपनी जगह बदलते देखा गया है, ऐसा क्यों होता है? यह अभी तक रहस्य बना हुआ है.
इन पत्थरों का खिसकने के पीछे के रहस्य का पता अभी तक नासा भी नहीं लगा पाई है. यह जगह 1.25 मील पूरब से पश्चिम और 2.5 मील उत्तर से दक्षिण तक समतल फैली हुई है. इस जगह पर लगभग 100 पत्थर ऐसे हैं जो अपने आप खिसकते रहते हैं लेकिन दिलचस्प बात यह है कि इन पत्थरों को खिसकते हुए किसी ने भी नहीं देखा है. कई सालों से ये पत्थर अपनी जगह से करीब 300 मीटर दूर तक खिसके मिलते हैं.

खिसकते पत्थरों के पीछे सब के अलग अलग तथ्य हैं.

1972 में इस रहस्य को सुलझाने के लिए वैज्ञानिकों की एक टीम ने इन पत्थरों का सात साल तक अध्ययन किया. वैज्ञानिकों की टीम ने एक 317 किलोग्राम का पत्थर का अध्ययन किया लेकिन अध्ययन के दौरान वह ज़रा भी नहीं हिला. लेकिन कुछ साल बाद जब उसी जगह पर वापस लौटे, तो करीब 1 किलोमीटर दूर मिला.

वैज्ञानिकों ने इस रहस्य का परिणाम यह निकाला कि तेज रफ्तार से चलने वाली हवाओं के कारण पत्थर अपने आप खिसकते हैं. वहीँ दूसरी और कुछ लोगों का मानना है कि यह सब पारलौकिक शक्तियों के कारण होता है. गहन शोध के बाद स्पेन की कम्प्लूटेंस यूनिवर्सिटी के भूवैज्ञानिकों ने इस जगह की मिट्‌टी में मौजूद माइक्रोब्स को इसका कारण बताया था.

माइक्रोब्स साइनोबैक्टीरिया एक कोशिकीय शैवाल होता हैं, जिनके कारण झील के तल में चिकना पदार्थ और गैस पैदा होती है. जिसके कारण पकड़ बनाने में मुश्किल होती है. वैज्ञानिकों का मानना है कि इस चिकने धरातल पर सर्द मौसम में तेज हवा की वजह से यह पत्थर अपनी जगह से खिसक जाते हैं.

Comments