महेंद्र सिंह धोनी के बारे में दिलचस्प तथ्य:

M.S.-Dhoni

महेंद्र सिंह धोनी जिन्हें कैप्टन कूल के नाम से भी जाना जाता है. महेंद्र सिंह धोनी, भारतीय टीम के अब तक के सबसे सफल कप्तान हैं जिन्होंने अपनी कप्तानी में भारत को 2007 T20 वर्ल्ड कप और 2011 वर्ल्ड कप में जीत दिलाई. महेंद्र सिंह धोनी ना केवल एक बेहतरीन खिलाड़ी हैं बल्कि एक बेहतर कप्तान भी हैं जो कभी मैच की जीत का श्रेय खुद नही लेते बल्कि पुरी टीम को इसका श्रेय देते हैं जिसके कारण टीम के सभी खिलाड़ी भी उनका सम्मान करते हैं. महेंद्र सिंह धोनी से जुड़ें कुछ उल्लेखनीय आंकड़े इस प्रकार हैं.

  • महेंद्र सिंह धोनी 22 टेस्ट जीतकर सौरव गांगुली को पीछे छोड़ते हुए भारत के सबसे सफल कप्तान बन गये हैं. पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने भी उन्हें भारत का सबसे सफल कप्तान बताया है. वे एकदिवसीय मैचों के मामले में भी भारत के सबसे सफल कप्तान हैं.
  • महेंद्र सिंह धोनी इस समय 20 बड़े ब्रांड्स का विज्ञापन कर रहे हैं. इसमें रीबॉक, पेप्सी के प्रॉडक्ट शामिल हैं. वे शाहरुख खान के बाद सबसे ज्यादा विज्ञापन करने वाले सेलिब्रिटी हैं. शाहरुख के पास 21 ब्रांड्स हैं.
  • धोनी एकमात्र ऐसे कप्तान हैं जिन्होंने अब तक खेले गए वर्ल्ड कप टी-20 के सभी मैचों में कप्तानी की है. धोनी ने अब तक विश्व कप में कुल 28 मैच खेले हैं. अब तक T20 में औसत 31.42 है.
  • 2011 के क्रिकेट विश्व कप में युवराज सिंह बल्ले और गेंद से जोरदार प्रदर्शन कर रहे थे. फाइनल मैच में श्रीलंका के खिलाफ जब टीम इंडिया की स्थिति तीन विकेट गिरने के बाद डांवाडोल थी, सबको उम्मीद युवराज के आने की थी, क्योंकि वो बेहतरीन फॉर्म में थे, लेकिन कैप्टन कूल ने युवराज को रोका और खुद पैड बांधे मैदान में मोर्चा संभालने आ पहुँचे. इसके बाद जो हुआ वह इतिहास है.
  • 2012 में फोर्ब्स पत्रिका ने धोनी को सबसे अमीर क्रिकेटर बताया. रईसी के मामले में वे दुनिया के टॉप 100 एथलीट में से 31वें स्थान पर थे. इस सूची में सचिन का स्थान 78वां था. 2013 में इसी पत्रिका ने धोनी को इस सूची में 16वां स्थान दिया. उनकी सालाना कमाई 190 करोड़ रुपए बताई गई.
  • धोनी ने 2007 में पहला T20 वर्ल्ड कप, टूर्नामेंट का फाइनल मैच पाकिस्तान से जीत कर इतिहास रचा था.
  • 2007 के टी-20 वर्ल्ड कप को कोई नही भूल सकता जब आखिरी ओवर के लिए जोगिंदर शर्मा को गेंद देने का साहसिक निर्णय लिया था. यहां तक कि जोगिंदर शर्मा को भी उम्मीद नहीं थी कि आखिरी ओवर के लिए धोनी उन्हें बुलाएँगे. अपने इस फैसले से धोनी ने बता दिया कि उनके बारे में कोई भी अनुमान लगा पाना इतना आसान नहीं है.
  • धोनी ने अपना रणजी कैरियर 1999-2000 में बिहार की टीम से शुरु किया था उस वक्त वे सिर्फ 18 साल के थे. धोनी ने डेब्यू मैच में 68 रन बनाये थे.
  • धोनी ने अपने कैरियर में कुल 90 टेस्ट मैचों में टीम की कप्तानी की है और 278 वनडे मैचों में भी टीम की कमान संभाली है. वहीं टी-20 मैचों में धोनी कुल 71 मैचों में कप्तानी कर चुके हैं.
  • धोनी ने 2016 में लगातार छठा आईसीसी टी-20 विश्व कप खेला था.

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं? भारत मैट्रीमोनी डॉट कॉम में निःशुल्क रजिस्टर करें!

Comments