टैक्नोलॉजी के रिश्तों पर पड़ने वाले दुष्प्रभाव

effects-of-technology-on-mutual-relationshipsसंकेतात्मक चित्र: telegraph.co.uk

आज हम ढेरों गैजेट्स के साथ अपनी जीवन बिता रहे हैं. जहाँ भी देख लें दो लोग बैठे हुए आपस में बातचीत करते कम और अपने टैबलेट्स या फ़ोन पर ज्यादा व्यस्त नजर आते हैं. आज हम अपने पार्टनर से ज्यादा गैजट्स के साथ टाइम बिता रहे हैं और इसके कारण कई बार इससे रिश्ते तक कमजोर हो जाते हैं. किसी भी रिश्ते में कम्युनिकेशन होना बहुत जरूरी है. हर दिन अपने फेसबुक को अपडेट करने के साथ अपने बैटर हाफ के वक्त बिताएं ताकि आपके रिश्ते स्वस्थ रह सकें.

वार्निग साइन

यदि आपका पार्टनर वीडियो गेम्स पर ज्यादा समय बिता रहा है तो इसे वार्निग साइन समझें क्योंकि ज्यादातर विवाहित जोड़ों का तलाक वीडियो गेम्स की लत की वजह से होता है. महिलाएं भी इस लत का शिकार हो जाती हैं. इसलिए दोनों को चाहिए कि देर रात तक चैटिंग या गेम्स में उलझने के बजाये अपने साथी के साथ ईवनिंग वॉक करने के लिए निकलें, ताकि उस समय आप अपनी बातें एक दूसरे से सांझा कर सकें.

डिप्रैशन

टैक्नोलॉजी के साथ जरुरत से ज्यादा भागीदारी हमारी सेहत का नुक्सान ही करती है. इस स्थिति में आप आसानी से नर्वस हो जाते हैं या फिर डिप्रैशन में आ जाते हैं. कई बार न चाहते हुए भी आप अपने पार्टनर पर बरस सकते हैं! ऐसे में असर आपके रिश्ते पर पड़ेगा ही. अपनी सेहत और रिश्ते बचाने के लिए टी. वी., टैबलेट और स्मार्ट फोन का साथ छोड़ने की कोशिश करें!

यह भी पढ़ें: व्यक्तित्व निखारने के 5 जबरदस्त उपाए!

फोन एडिक्शन यानि लत

यदि आप अपने स्मार्टफोन से पूरे दिन चिपके रहते हैं या आपका पार्टनर ऐसा कर रहा है तो संभल जाएं, क्योंकि फोन एडिक्शन इन दिनों काफी कॉमन हो गया है. बहुत से लोग हैं जो इस एडिक्शन से पीछा छुड़ाना चाहते हैं परंतु यह आसान नहीं है. जब कभी भी आप अपने पार्टनर के साथ हों तो फोन या टैब को अलग रख दें, इससे आपका रिश्ता मजबूत होगा और आप इस लत से भी बच सकेंगे.

गैजेट्स दूर रखें

यूं तो पति-पत्नी के बीच बहस होना आम बात है परंतु जब बहस टेक्नोलॉजी के मुद्दे पर हो तो यह बात कुछ ठीक नहीं लगती. एक-दूसरे के लिए टेक्नोलॉजी गैजेट्स से एक दूरी बनाये रखें. रिश्ता मजबूत करने के लिए यह एक बहुत छोटा-सा  लेकिन लाभदायक त्याग होगा.

नींद पर असर

टेक्नोलॉजी के कारण नींद न आना (यानि Insomnia) बहुत आम हो चुका है. हर रोज रात को सोने से पहले लैपटॉप पर समय बिताने से अच्छी नींद पर असर पड़ता है. इसके अलावा रात को देर तक बैठ कर अकेले टी. वी. देखना भी अच्छी नींद में बाधक है. यह आपके शरीर व सेहत के लिए अच्छा नहीं है. साथ ही, इससे किसी भी युगल यानि जोड़े के पारस्परिक रिश्ते में खटास आ सकती है.

यह भी पढ़ें: सपनों के बारे में 20 अदभुत तथ्य

Comments